Homeमानसइस तकनीक से हरियाणा के किसान ने रेतीली जमीन पर उगा दिया...

इस तकनीक से हरियाणा के किसान ने रेतीली जमीन पर उगा दिया ऐसा फल कि हर कोई हो गया हैरान

Published on

धीरे धीरे हरियाणा में पारंपरिक खेती की जगह किसान बागवानी की ओर कदम बढ़ा रहे हैं। परंपरागत खेती का मोह त्यागकर बड़ी संख्या में किसान ऑर्गेनिक खेती कर रहे हैं। इसके जरिए किसान अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत कर रहे हैं और कामयाबी हासिल कर रहे हैं। प्रदेश के सीएम मनोहर लाल खट्टर भी किसानों को परंपरागत खेती की जगह बागवानी करने को (Organic farming became a profitable deal) प्रेरित कर रहे हैं। सीएम की बातों प्रभावित होकर हरियाणा के एक किसान ने ऑर्गेनिक खेती के जरिए नया कारनामा कर दिखाया है। जिसकी हर जगह चर्चा हो रही है।

चरखी दादरी जिलें के गांव गोपी निवासी मनोहर अपने कारनामे की वजह से आज अन्य किसानों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत बन गए हैं। उन्होंने न केवल ऑर्गेनिक खेती के जरिए बेहतर फसल उगाई है बल्कि लाखों रुपए की आमदनी कर अपने आप को आर्थिक रूप से मजबूत भी किया है।

बता दें कि 2016 से किसान मनोहर टमाटर, मिर्च, खीरा व हरी सब्जियों की खेती कर रहे हैं और जिससे भरपूर पैदावार हो रही है। इसके साथ-साथ वह हल्दी की खेती भी करते हैं, जिससे अच्छी-खासी आमदनी हो रही है।

मुनाफे का सौदा बनी ऑर्गेनिक खेती

बता दें कि गेहूं व सरसों की फसल में अधिक मेहनत और खर्चा लगता है लेकिन सब्जी की खेती करने से कम लागत में अधिक मुनाफा कमाया जा सकता है। मनोहर ने बताया कि वह खुद ऑर्गेनिक खाद तैयार करते हैं जिससे सब्जी की फसल को बीमारियों से सुरक्षित रखा जाता है।

वहीं ऑर्गेनिक खेती से उगने वाली सब्जियां और फल सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद है। इसके अलावा रेतीली जमीन पर पांच एकड़ में खजूर के पेड़ भी लगाए हैं और बहुत जल्द इनसे फल मिलने शुरू हो जाएंगे।

ऐसे करें आर्थिक स्थिति मजबूत

आपको बता दें कि किसान मनोहर ने दो एकड़ जमीन पर नेट हाउस लगाया है जिसमें वह हरी मिर्च की खेती कर रहे हैं। नेट हाउस लगवाने पर सरकार की ओर से उन्हें सब्सिडी भी दी गई है। उन्होंने अन्य किसानों से भी इस नई तकनीक को अपनाने की अपील की ओर उन्हें बताया कि इसमें कम लागत पर अधिक मुनाफा कमा कर आर्थिक स्थिति को मजबूत कर सकते हैं।

केमिकल फर्टिलाइजर मुक्त खेती

किसान ने बताया कि इस तरह की खेती में केमिकल फर्टिलाइजर की जगह ऑर्गेनिक खाद और बायो फर्टिलाइजर का उपयोग किया जाता है। साथ ही बारिश के पानी को स्टोर करने के लिए तालाब भी बनाए जाते हैं और इसी पानी में मछली पालन के रुप में अतिरिक्त व्यवसाय भी किया जा सकता है।

Latest articles

हरियाणा के इस गांव मे सरपंच बनी नई नवेली दुल्हन, शादी के कुछ दिन बाद ही संभाली गांव की कमान

अभी हाल ही में 25 नवंबर को पूरे हरियाणा में पंचायत चुनाव हुए हैं। इस बार युवाओं ने चुनावो में बढ़ चढ़ के भाग...

हरियाणा सरकार ने भव्य बिश्नोई को बनाया विधानसभा लेखा समिति का मेंबर,इसी हफ्ते ली है विधायक की शपथ

अभी हाल ही में हरियाणा सरकार ने आदमपुर विधानसभा सीट से नवनिर्वाचित विधायक भव्य बिश्नोई को एक नई जिम्मेदारी सौंपी है। उन्हें विधानसभा में...

इस दिन बंद रहेगा पूरा हरियाणा, सरकारी छुट्टी की घोषणा, स्कूल से लेकर सरकारी ऑफिस तक रहेंगे बंद रहेंगे

आने वाले सोमवार यानि कि 28 नवंबर को एक बार फिर से हरियाणा सरकार ने सरकारी छुट्टी घोषित कर दी है। इस दिन सभी...

पंचायत चुनाव मतगणना के अवसर पर कल बंद रहेंगे हरियाणा के सभी ठेके, उल्लंघन करनें पर हो सकती इतने महीने की सजा

बीते शुक्रवार को हरियाणा के सभी जिलों में ग्राम पंचायत के सरपंच के चुनाव हो चूके है। जिसके परिणाम भी उसी दिन ही आ...

हरियाणा की ये बेटी पहुंची किक बॉक्सिंग के वर्ल्ड रैंकिंग टॉप-3 में, यहां जानें कौन है वो बहादुर बेटी

म्हारी छोरियां छोरों से कम है के दंगल मूवी का ये डायलॉग कहीं और...

यहां जानें कौन है हरियाणा के नेशनल चैंपियन झोटा राका, आखिर कैसी है उनकी डेली लाइफ

आए दिन कोई ना कोई,किसी ना किसी चर्चा के कारण फेमस हुआ रहता है।...

More like this

हरियाणा: Booster Doze लगवाने वालों को यह शख्स फ्री में खिला रहा छोले-भटूरे, खुद पीएम मोदी ने की तारीफ

जैसा कि सब जानते हैं बीते कुछ समय पहले देश महामारी से जूझ रहा...

Viral Video: हरियाणा के बलराम बनें ईमानदारी की मिसाल, इलाके में हो रहे इन्हीं के चर्चे

कहते हैं इस कलयुग दुनिया में ईमानदारी को चिराग लेकर भी ढूंढा जाए तो...