Homeजिलाकुरुक्षेत्रहरियाणा में बन रहा Asia का सबसे ऊंचा मंदिर, जानें कब कर...

हरियाणा में बन रहा Asia का सबसे ऊंचा मंदिर, जानें कब कर सकते हैं इसकी भव्यता के दर्शन

Published on

हरियाणा में गांव और शहरों का विकास हो ही रहा है इसके साथ ही पर्यटन स्थलों (Tourist Places in Haryana) को लेकर भी सरकार का विशेष ध्यान है हरियाणा में पर्यटन स्थलों को बढ़ावा देने के लिए केंद्र और राज्य सरकार (Asia’s tallest temple built in Kurukshetra) द्वारा कई प्रोजेक्ट्स पर काम किए जा रहे हैं। बता दें कि जल्दी हरियाणा की धर्मनगरी में एशिया का सबसे बड़ा मंदिर (Geeta Gyan Mandir) बन रहा है। इसका निर्माण कार्य कुछ ही समय में पूरा होने वाला है। निर्माण कार्य पूरा होने के बाद यहां आमजन की एंट्री भी शुरू हो जाएगी।

बता दें कि यह मंदिर हर तरह से खास होने वाला है। इसकी सबसे बड़ी खासियत तो यह है कि यह एशिया का सबसे ऊंचा मंदिर (Asia’s tallest temple in Haryana) होने वाला है। 18 मंजिला इस मंदिर में हर फ्लोर पर कुछ ना कुछ खास देखने को मिलेगा। अधिकारियों ने बताया कि जल्दी ही यह मंदिर जनता के लिए खोल दिया जाएगा।

हरियाणा की धर्मनगरी कुरुक्षेत्र में एशिया का सबसे ऊंचा 18 मंजिला गीता ज्ञान मंदिर का निर्माण कार्य चल रहा है। तेजी से मंदिर का निर्माण कार्य किया जा रहा है। ब्रह्मपुरी अन्नक्षेत्र ट्रस्ट (Brahmapuri Annakshetra Trust) द्वारा इसका निर्माण करवाया जा रहा है। एशिया के सबसे बड़े ब्रह्मसरोवर तट (Brahmasarovar beach) पर इस भव्य मंदिर का निर्माण किया जा रहा है।

जानें, कब होगी आमजन की एंट्री?

जैसे ही जनता को पता चला कि मंदिर का निर्माण कार्य पूरा होने वाला है, श्रद्धालु मंदिर में प्रवेश पाने के लिए काफी उत्सुक हैं। हाल ही में मंदिर ट्रस्ट के अधिकारियों की एक बैठक भी हुई थी।

बैठक में फैसला लिया गया कि इस मंदिर को गीता जयंती (The temple will be opened for public on the occasion of Geeta Jayanti) के अवसर पर आमजन के लिए खोल दिया जाएगा। 3 एकड़ में बना यह मंदिर अपने भव्यता के लिए भी का सुप्रसिद्ध होने वाला है।

दिखेगी गीता की झलक

महाभारत से प्रेरित होकर इस मंदिर को 18 मंजिला बनाया गया है। महाभारत में गीता के 18 अध्याय, 18 अक्षौहिणी सेना और 18 दिन का युद्ध, इन मंजिलों पर इन्हीं सब की झलक दिखने वाली है। हर मंजिल पर गीता के अध्याय का वर्णन किया गया है।

महामारी बनी थी बाधा

17वीं मंजिल पर श्रद्धालु भगवान श्रीकृष्ण के दर्शन कर सकते हैं। महामारी के कारण मंदिर के निर्माण कार्य में रुकावट पैदा हो गई थी। लेकिन अब वापस से इसमें तेजी आ गई है और जल्दी ही इस मंदिर का निर्माण कार्य पूरा होने वाला है।

Latest articles

पहली बार हरियाणा सरकार ने दर्जन सरकारी विभागों को आपस में किया विलय, होगा मंत्रियों के विभागों में फेरबदल

हरियाणा सरकार इन दिनों जनता को सुविधा देने के लिए आए दिन कुछ ना कुछ नए कदम उठा रही है। अब करीब दो दर्जन...

1 जनवरी से NCR के शहरों में पंजीकृत होंगे सिर्फ़ सीएनजी व इलेक्ट्रिक ऑटो, जल्द बंद होंगे डीजल से चलने वाले ऑटो रिक्शा

देश में औद्योगीकरण और वाहनों के बढ़ते हुए प्रदूषण को देखते हुए सरकार ने एक फ़ैसला लिया है, जिसका सीधा असर ऑटो चालकों पर...

हरियाणा के इस जिले जल्द बनेगा अरावली वन्यजीवों के लिए नया रेस्क्यू सेंटर, इसमें बीमार जीवो को भी मिलेगा संरक्षण

हरियाणा में स्थित अरावली की पहाड़ियां विश्व की सबसे पुरानी पहाड़ियों में से एक है। इसके साथ ही अरावली की इन पहाड़ियों में कई...

हरियाणा में सोमवार को हो सकती है छुट्टी,ये होगी इस छुट्टी की वजह

आने वाले सोमवार यानि की 5 दिसंबर के लिए एक बार फिर से हरियाणा सरकार ने छुट्टी की घोषणा कर दी है। ये छुट्टी...

हरियाणा में पहली बार सामने आया अनोखा मामला, मुर्गियां को मारने पर हुई FIR

रोजाना खानें के लिए पूरे भारत में लाखों मुर्गियां कटती हैं, लेकिन आज तक...

बहुत जल्द दिल्ली की होलसेल मार्केट हरियाणा में हो सकती है शिफ्ट, सीएम मनोहर लाल खट्टर ने दिल्ली के 11 व्यापारी एसोसिएशन से की...

इन दिनों हरियाणा सरकार हरियाणा वासियों को दिल्ली वासियों की तरह सुविधा देने के...

More like this

1 जनवरी से NCR के शहरों में पंजीकृत होंगे सिर्फ़ सीएनजी व इलेक्ट्रिक ऑटो, जल्द बंद होंगे डीजल से चलने वाले ऑटो रिक्शा

देश में औद्योगीकरण और वाहनों के बढ़ते हुए प्रदूषण को देखते हुए सरकार ने...

हरियाणा के इस जिले जल्द बनेगा अरावली वन्यजीवों के लिए नया रेस्क्यू सेंटर, इसमें बीमार जीवो को भी मिलेगा संरक्षण

हरियाणा में स्थित अरावली की पहाड़ियां विश्व की सबसे पुरानी पहाड़ियों में से एक...

हरियाणा के नए पंच और सरपंच आज करेंगे शपथ ग्रहण, सीएम मनोहरलाल खट्टर भी जुड़ेंगे ऑनलाइन माध्यम से

आज सुबह 11 बजे हरियाणा के 22 जिलों में नवनिर्वाचित पंच और सरपंच शपथ...