Homeकुछ भीहरियाणा में बच्चों की मौत के आंकड़े में आई गिरावट, हर साल...

हरियाणा में बच्चों की मौत के आंकड़े में आई गिरावट, हर साल जा रही थी इतनी जान

Published on

हरियाणा के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अनिल विज ने कहा कि भारत के रजिस्ट्रार जनरल और नमूना पंजीकरण प्रणाली (एसआरएस) के अनुसार नवीनतम बाल स्वास्थ्य आंकड़ों में पांच वर्ष से कम आयु की शिशु मृत्यु दर में हरियाणा में पांच अंकों की उल्लेखनीय गिरावट आई है। उन्होंने बताया कि पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और उत्तराखंड जैसे पड़ोसी राज्यों की तुलना में हरियाणा में यू5एमआर में 5 अंकों की गिरावट सबसे अधिक है।

उन्होंने बताया कि हरियाणा माताओं और शिशुओं को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के निरंतर प्रयास के माध्यम से बाल स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर बनाने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। उन्होंने बताया कि आरबीएसके कार्यक्रमों के तहत मुफ्त सर्जरी ने भी बाल मृत्यु दर की गिरावट में भी योगदान दिया है।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि ‘हरियाणा में पांच अंकों की गिरावट के साथ पांच वर्ष से कम मृत्यु दर (यू5एमआर) को 36 (एसआरएस 2018) से घटकर 31 (SRS 2019) प्रति 1000 जन्म हुई है। शिशु मृत्यु दर (IMR) 30 (SRS 2018) से 27 (एसआरएस 2019) और नवजात मृत्यु दर (एनएमआर) 22 (एसआरएस 2018) से घटकर 19 (एसआरएस 2019) हो गई है, इन दोनों संकेतकों में भी उल्लेखनीय 3 अंक की गिरावट आई है।

विज ने कहा कि हरियाणा लगातार राज्य बाल स्वास्थ्य और टीकाकरण सेवाओं में सुधार पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। उन्होंने कहा कि ‘बाल स्वास्थ्य संकेतकों में गिरावट स्वास्थ्य विभाग द्वारा की गई विभिन्न बाल स्वास्थ्य पहलों के कारण हुई है।

इसमें कार्यात्मक कंगारू मदर केयर यूनिट (केएमसी इकाइयों) के साथ 24 विशेष नवजात देखभाल इकाइयां (एसएनसीयू) शामिल हैं। उन्होंने बताया कि उपमंडल अस्पताल (एसडीएच), अंबाला छावनी और एसडीएच जगाधरी में 2 नए एसएनसीयू स्थापित किए गए हैं।

उन्होंने बताया कि नलहड़ मेडिकल कॉलेज, नूंह और अग्रोहा मेडिकल कॉलेज, हिसार में मदर न्यूबॉर्न केयर यूनिट (एमएनसीयू) की स्थापना की गई है। उन्होंने बताया कि 66 नवजात स्थिरीकरण इकाइयों (एनबीएसयू), 318 नवजात देखभाल केंद्रों के साथ-साथ 11 पोषण पुनर्वास केंद्रों (एनआरसी) ने भी एनएमआर और आगे आईएमआर को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

विज ने बताया कि ‘यू5एमआर में कमी टीकाकरण सेवाओं में यह सुधार ,अन्य बाल स्वास्थ्य संबंधी कार्यक्रमों जैसे  गहन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा, सामाजिक जागरूकता और निमोनिया को सफलतापूर्वक बेअसर करने के लिए कार्रवाई, सूक्ष्म पोषक तत्व अनुपूरक दौर, राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस, आशा के माध्यम से घर-घर प्रसवोत्तर देखभाल आदि नियमित रूप से चलने वाले कार्यक्रमों के कारण हुआ है। 

Latest articles

एक मुस्लिम लड़की के प्यार में 9 साल तक तड़पते रहे सुनील शेट्टी, जाने पुरी कहानी

सोशल मीडिया पर इन दिनों अथिया शेट्टी की शादी के चर्चे हो रहे है। अथिया की वेडिंग फोटोज सोशल मीडिया पर वायरल हो रही...

Haryana के इस जिले में देखा गया अनोखा पक्षी, इसे देखने के लिए पक्षी प्रेमियों में बढ़ा उत्साह

अलग अलग तरह के पक्षी को देखने का शौक रखने वाले पक्षी प्रेमियों के लिए ये ख़बर किसी खुशखबरी से कम नहीं है, क्योंकि...

Haryana के इस व्यक्ति ने अपने शौक के दम पर बनाई अपनी पहचान, आज विदेश तक जानते हैं लोग

आपने अक्सर अपनी जिंदगी में सुना होगा कि शौक बड़ी चीज़ है, व्यक्ति का यह शौक उसकी जिंदगी बिगाड़ भी सकता हैं और बना...

Haryana के इस जिले के लोगों को जल्द मिलेगी एक नई सड़क, इसे बनाने में 2 करोड़ 15 लाख रुपए किए जाएंगे खर्च

हरियाणा के लोगों के लिए एक खुशी की खबर सामने निकल कर आई है। क्योंकि बहुत जल्द यहां के लोगों को एक नई सड़क...

हरियाणा के इस गांव में नहीं फहराया गया तिरंगा, यहां जानें क्या है इसके पीछे की वजह

हरियाणा के प्रत्येक जिले,शहर और गांव के लोगों ने राष्ट्र की भावना से ओत...

भारतीय वॉलीबॉल टीम की Captain ने हरियाणा के बेटे के संग लिए 7 फेरे, यहां देखें शादी की तस्वीरे

शुक्रवार के दिन भारतीय वॉलीबॉल टीम की Captain निर्मल तंवर और Railway अधिकारी दीपक...

Haryana मे वफादारी निभाने वाले कुत्ते को मिली मौत की सजा, यहां जानें पूरी कहानी

आपने अक्सर अपनी जिंदगी में सुना होगा की कुत्ता एक वफादार जानवर है, वह...

हरियाणा में पिता ने बेटी का घोड़ी पर बनवारा निकालकर समाज को दिया नया संदेश

देश में जैसे जैसे लोग शिक्षित होते जा रहे हैं, वैसे ही लोगों में...

More like this

पठान मूवी में शाहरुख से ज्यादा चर्चे सलमान खान के कैमियो के है, क्रेजी हुए भाईजान के फैंस

करीब 4 साल बार शाहरुख खान बड़े पर्दे पर अपनी पठान मूवी के साथ...

मस्जिद के कमरे में बीता था इरफान पठान का बचपन, अब परिवार के साथ जी रहे है आलीशान जिंदगी

भारतीय क्रिकेट के पूर्व खिलाड़ी इरफान पठान जिन्होंने भारतीय राष्ट्रीय क्रिकेट टीम में 2003...

भारतीय वॉलीबॉल टीम की Captain ने हरियाणा के बेटे के संग लिए 7 फेरे, यहां देखें शादी की तस्वीरे

शुक्रवार के दिन भारतीय वॉलीबॉल टीम की Captain निर्मल तंवर और Railway अधिकारी दीपक...