Homeकुछ भीमंत्री से ज्यादा फेमस है हरियाणा की यह महिला IPS अधिकारी, गृहमंत्री...

मंत्री से ज्यादा फेमस है हरियाणा की यह महिला IPS अधिकारी, गृहमंत्री से भी चुकी है भिड़

Published on

प्रशासनिक हलकों से कभी-कभी ऐसी सुर्खियां लोगों तक पहुंचती हैं, जो बहुतों की जिंदगी के लिए प्रेरणा स्रोत बन जाती हैं। वह दास्तान दिल्ली एनसीआर की महिला आईपीएस अपर्णा गौतम की हो या हरियाणा की एसपी संगीता कालिया की। फिलहाल जिन दो आईपीएस की दास्तान हम यहां बताने जा रहे हैं, दोनों के सूत्र हरियाणा से जुड़े हैं। आइए, पहले अपर्णा गौतम के एक नेक काम का वाकया जानते हैं। मूलरूप से हरियाणा के रोहतक की रहने वाली वृद्धा सरोज पिछले दिनो वसुंधरा सेक्टर नौ (गाजियाबाद) स्थित नगर निगम के आफिस के सामने घायल अवस्था में डिवाइडर पर पड़ी थीं। रात करीब दस बजे गाजियाबाद में तैनात महिला आईपीएस अधिकारी अपर्णा गौतम वहां से गुजर रही थीं। उनकी नजर वृद्धा पर पड़ी।

उन्होंने तत्काल अपनी कार रुकवाई और सिपाही की मदद से पहले महिला को सड़क किनारे बैठाया। फिर वृद्धा का अता-पता पूछा। सरोज घर तो रोहतक बता रही थीं लेकिन अपना ठीक से पता नहीं दे पा रही थीं। इसके बाद अपर्णा गौतम ने तुरंत घायल वृद्धा को गाजियाबाद के कविनगर स्थित प्रेरणा बाल आश्रम में पहुंचवाया।

सरोज ने उनको बताया कि घर वालों ने उन्हें निकाल दिया है। आश्रम के आचार्य तरुण के मुताबिक महिला का हाथ जला हुआ है। अपर्णा गौतम के विशेष निर्देश पर उनको संयुक्त जिला अस्पताल में इलाज भी कराया गया है।

पानीपत (हरियाणा) की तेज तर्रार पुलिस कप्तान हैं संगीता कालिया। वह जिन दिनो नवंबर 2015 में जब फतेहाबाद में तैनात रही थीं, एक मीटिंग के दौरान उनका भाजपा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से बहस-मुबाहसा हो गया था। अनिल विज उस समय वहां के कष्ट निवारण समिति के अध्यक्ष थे।

एक शिकायत की सुनवाई के दौरान विज ने एसपी को ‘गेट आउट’ कह दिया था। जब वह अडिग रहीं, मीटिंग हॉल से बाहर नहीं गई तो विज खुद बैठक छोड़कर चले गए थे। इसके बाद एसपी का वहां से तबादला कर दिया गया था। अब उनका एक बार फिर विज से सामना होने की नौबत आ गई है क्योंकि इस वक्त वह पानीपत कष्ट निवारण समिति के अध्यक्ष हैं।

निजी जीवन में बेहद ईमानदार एसपी संगीता कालिया 2009 बैच की कड़क आईपीएस मानी जाती हैं। उन्होंने कड़ा संघर्ष करके एक आईपीएस का मुकाम हासिल किया है। उनकी गिनती किसी डर जानेवाले अधिकारियों में से नहीं है। साहित्य और संगीत में भी वह गहरी दिलचस्पी रखती हैं। प्रतिदिन वह कम से कम पंद्रह-सोलह घंटे अपनी ड्यूटी पर सक्रिय रहती हैं। फतेहाबाद में महिला थाना की बिल्डिंग बनवाने का भी उन्हें श्रेय है। इसके अलावा कई ब्लाइंड मर्डर केस भी उनके नेतृत्व में फतेहाबाद पुलिस ने सुलझाए हैं।

उनके पिता धर्मपाल फतेहाबाद पुलिस में पेंटर थे और वर्ष 2010 में वह अपने पद से वहीं से रिटायर हो गए थे। संगीता ने अपनी पढ़ाई भिवानी से की और वर्ष 2005 में पहली यूपीएससी परीक्षा दी, लेकिन 2009 में तीसरे प्रयास में परीक्षा पास हुईं। आज जबकि वह सत्ताधारी दल के एक मंत्री की नाखुशी का सामना कर चुकी हैं, उनके संस्कार और जनविश्वास उनका संबल बने हुए हैं। जिंदगी में हमेशा सही राह से कभी विचलित नहीं होना पुलिस सेवा में उनका एक अदद मकसद रहा है। इसीलिए वह लोगों के बीच आज भी प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री से ज्यादा लोकप्रिय बनी हुई हैं।

वह बताती हैं कि उन्हें पुलिस में आने की प्रेरणा ‘उड़ान’ सीरियल देख कर मिली। घरेलू जीवन में उनके पिता सबसे पहले प्रेरणा स्रोत रहे। उनके पति विवेक कालिया भी हरियाणा में एचसीएस हैं। संगीता कालिया पुलिस प्रशासनिक सेवा ज्वॉइन करने से पहले छह नौकरियों के ऑफर को ठुकरा चुकी हैं। उनका जन्म भिवानी जिले के एक साधारण परिवार में हुआ था। बचपन से ही कुछ अलग करने का सपना वह देखती रही हैं। वह बताती हैं कि पुलिस की वर्दी पहनते समय उन्होंने कसम खाई थी कि इसकी आन-बान पर कोई दाग नहीं लगने देंगी। इसी संकल्प को उन्होंने अपनी हर पोस्टिंग के दौरान निभाने की कोशिश की है।

कार्यभार संभालने के बाद से उन्होंने न तो कभी झूठ का सहारा लिया और न ही आगे किसी गलत काम के आगे झुकने को तैयार हैं। उनके घर-परिवार के लिए यह भी एक सुखद आश्चर्य रहा है कि जिस साल 2010 में उनके पिता पुलिस विभाग से रिटायर हुए, उसी साल हरियाणा पुलिस में एक आईपीएस के रूप में संगीता कालिया की ज्वाइनिंग हुई। उसके बाद तो उनके पिता का सिर फक्र से ऊँचा हो गया था।

इस पद पर रहते हुए वह अपने कई साहसिक कारनामों के लिए मशहूर हो चुकी हैं। वह जहां भी रहती हैं, अपनी ईमानदारी और हिम्मत से बहुत कम समय में लोगों के बीच लोकप्रिय हो जाती हैं। खासकर जो भी केस उनके संज्ञान में आ जाते हैं, उन्हें वह सुलझाए बिना नहीं छोड़ती हैं। इसके साथ ही वह सामजिक कार्यों में भी दिलचस्पी लेती रहती हैं।

Latest articles

Haryana के इस किसान ने सब्जी की खेती छोड़ शुरू किया ये काम, इसी की मदद से आज कमा रहा है लाखों रुपए

हरियाणा के किसान ज्यादातर सब्जी और अनाज की खेती करते हैं। लेकिन कुछ किसान ऐसे भी हैं जो सब्जी और अनाज की खेती करने...

Haryana के इस शख्स ने Social Media से प्रेरणा लेकर शुरू किया ये काम, जान कर आप भी करने लगेंगे तारीफ

आज के समय में लगभग सभी लोग Social Media का इस्तमाल करते हैं, वे ज्यादा तर Social Media का इस्तमाल मनोरंजन के लिए करते...

हरियाणा का फैमस Surajkund मेला हुआ शुरू, तीसरे दिन भी बरकार रहीं रौनक

बीते शुक्रवार यानि कि 3 फरवरी से हरियाणा का सबसे चर्चित Surajkund मेला शुरू हो गया हैं। इस बार मेले के तीसरे दिन भी...

Haryana मे अब आम जनता भी चला सकेंगी VIP नंबर के वाहन,सरकार ने VIP नंबरों की पॉलिसी में किया बड़ा बदलाव

अगर आप हरियाणा में रहते हैं और VIP नंबरों के वाहन चलाने के इच्छुक हैं तो,ये ख़बर आपके लिए सोने पर सुहागा जैसी है।...

हरियाणा सरकार ने दी BPL राशन कार्ड धारकों को सौगात, अब हर महीने इतने रूपए देगी सरकार

हरियाणा के जो लोग BPL और AAY राशन कार्ड के धारक हैं और उन्होंने...

कल से शुरू होने जा रहा हैं हरियाणा का सबसे चर्चित Surajkund मेला, यहां जानें क्या होगा इस बार ख़ास

आने वाले कल यानि की 3 फरवरी को हरियाणा का सबसे चर्चित Surajkund मेला...

हरियाणा वासियों को जल्द मिलेंगे 3 Mini Airport, इन जिलों में होगा इनका निर्माण, यहां जानें पूरी जानकारी

हरियाणा के लोगो के लिए एक बहुत ही अच्छी ख़बर सामने निकल कर आई...

More like this

Haryana के इस किसान ने सब्जी की खेती छोड़ शुरू किया ये काम, इसी की मदद से आज कमा रहा है लाखों रुपए

हरियाणा के किसान ज्यादातर सब्जी और अनाज की खेती करते हैं। लेकिन कुछ किसान...

Haryana मे अनोखे तरीके से दुल्हन को लेने पहुंचा दूल्हा, देखने के लिए लोगों की उमड़ी भीड़

अपनी शादी में सारे अरमान पूरे करना हर किसी का सपना होता है। अमीर...