Homeकुछ भीKhelo India तक पहुंचा राज्य का यह 400 साल पुराना आर्ट, अंग्रेजों...

Khelo India तक पहुंचा राज्य का यह 400 साल पुराना आर्ट, अंग्रेजों ने इस कारण लगाया था बैन

Published on

करीब 400 साल पहले मणिपुर में राजा-महाराजाओं ने जिस आर्ट को शुरू किया था, वह आज खेलो इंडिया तक पहुंच गई है। न केवल मणिपुर बल्कि देशभर से आई 22 टीमें इस खेल में हिस्सा ले रही हैं। इस आर्ट का नाम है थांग-ता। थांग का अर्थ है तलवार और ता का अर्थ है भाला। तलवार और भाले के साथ खेली जाने वाली इस आर्ट को अंग्रेजों ने इस डर से बैन कर दिया था कि कहीं इसके दम पर लोग ब्रिटिश हुकूमत का सामना न करने लगें। मणिपुर के स्थानीय लोगों ने अपने प्रयासों से न केवल इस आर्ट को पुनर्जीवित किया है बल्कि खेलो इंडिया तक पहुंचा दिया है।  

इस आर्ट को खेल का रूप देने वाले थांग-ता फेडरेशन ऑफ इंडिया के एच. प्रेम कुमार सिंह का कहना है कि उन्हें लगता था कि जब मार्शल आर्ट विदेशों से आकर एक खेल के रूप में अपनी जगह बना सकता है तो मणिपुर का थांग-ता क्यों नहीं।

इस सोच के साथ उन्होंने थांग-ता को खेल के रूप में लाने की ठानी। सबसे पहली चुनौती इसके नियम थे। इसके बाद तलवार और भाले की जगह इसे किसके साथ करवाया जाए। ऐसे में एच.प्रेम कुमार ने तलवार की जगह स्टिक को दी और एक ढाल को इस्तेमाल किया। स्टिक को तलवार की तरह बनाया गया। धीरे-धीरे उन्होंने मणिपुर में थांग-ता के आयोजन शुरू किए।  

हर जिले में करवाई थांग-ता की प्रतियोगिताएं ज्यादा से ज्यादा किया प्रचार

एच. प्रेम कुमार बताते हैं कि थांग-ता को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाने के लिए ज्यादा से ज्यादा प्रतियोगिताएं आयोजित करवाई गई। वे अपनी टीम के साथ देशभर में घूमे और इस खेल से जुड़े नियम व खेल के संबंध में प्रचार किया। 1990 में इंफाल में नोर्थ इस्ट के राज्यों के लिए प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

इसके बाद 1993 में नेशनल चैंपियनशिप आयोजित की गई। फिर हर साल अलग-अलग जगह आयोजन किए गए। उन्होंने जम्मू-कश्मीर में भी राष्ट्रीय चैंपियनशिप आयोजित करवाई। इसके अतिरिक्त, देश के बाहर भी गए और विदेशों में भी खेल का प्रचार किया। 2011 में पहली वर्ल्ड चैंपियनशिप आयोजित की गई, इसमें 6 देशों ने हिस्सा लिया।

2020 खेलो इंडिया में दी थी प्रेजेंटेशन, भारत सरकार ने दी अनुमति

थांग-ता को खेलो इंडिया में शामिल करने के लिए थांग-ता फेडरेशन ऑफ इंडिया ने 2020 में गुवाहटी में आयोजित हुई खेलो इंडिया प्रतियोगिता में प्रेजेंटेशन दी थी। इसके बाद भारत सरकार ने उन्हें इस खेल को खेलो इंडिया में शामिल करने की अनुमति दी। इस बार के खेलो इंडिया में थांग-ता खेलने के लिए 22 टीमें और 140 खिलाड़ी पहुंचे हुए हैं।

हरियाणा ने थांग-ता में जीते 4 मेडल

हरियाणा ने भी थांग-ता में चार मेडल जीते हैं। अंडर-18 पुरुष प्रतिस्पर्धा में एक कांस्य और 1 रजत पदक जीता है। इसी तरह अंडर-18 महिलाओं की प्रतिस्पर्धा में दो रजत पदक हरियाणा ने अपने नाम किए हैं।

Latest articles

हरियाणा में यहां पर जल्द बनेगा अरावली वन्यजीवों के लिए नया रेस्क्यू सेंटर,यहां जानें इस से जुड़ी पूरी जानकारी

हरियाणा में स्थित अरावली की पहाड़ियां विश्व की सबसे पुरानी पहाड़ियों में से एक है। इसके साथ ही अरावली की इन पहाड़ियों में कई...

UP की बेटी ने Singing के दम पर Haryana में बनाई पहचान, आज लाखों लोग हैं इनकी आवाज के दीवाने

रोजना लाखों लोग अपनी आंखों में एक सपना लेकर चलते हैं, कि वे Famous हो जाए,दूसरे Hero Heroine की तरह ही उनकी फैन following...

Haryana का Five Star Hotel करनें जा रहा हैं ये काम, जिसे सुनकर आप भी हो जाएंगे हैरान

अपने अपनी जिंदगी में अक्सर किसी न किसी होटल, Resturant में खाना खाया होगा और Bill दिया होगा। लेकिन अगर आप उस खानें पीने...

Haryana की इस अनोखी गाय ने किया कमाल, अपने मालिक को दी इतनी कीमती चीज़

हरियाणा की मिट्टी की तो बात ही कुछ और है, जभी तो न सिर्फ़ यहां के बेटा बेटियां ही बल्कि गाय भैंस भी प्रदेश...

Haryana मे अब आम जनता भी चला सकेंगी VIP नंबर के वाहन,सरकार ने VIP नंबरों की पॉलिसी में किया बड़ा बदलाव

अगर आप हरियाणा में रहते हैं और VIP नंबरों के वाहन चलाने के इच्छुक...

हरियाणा का फैमस Surajkund मेला हुआ शुरू, तीसरे दिन भी बरकार रहीं रौनक

बीते शुक्रवार यानि कि 3 फरवरी से हरियाणा का सबसे चर्चित Surajkund मेला शुरू...

Haryana मे बहुत जल्द चलती नज़र आएंगी नए तरीके की Train ,यहां देखें क्या होगा उसका इनका Route

देश में बढते Pollution और Petrol Diesel के बढते हुए दाम को देखते हुए...

Haryana की फैमस जगह के पराठे खानें के लिए अब नहीं करना होगा घंटो तक का सफर, यहां जानें पूरी ख़बर

Haryana मे ऐसी बहुत सी जगह है जो खानें पीने के लिए मशहूर हैं,...

More like this

UP की बेटी ने Singing के दम पर Haryana में बनाई पहचान, आज लाखों लोग हैं इनकी आवाज के दीवाने

रोजना लाखों लोग अपनी आंखों में एक सपना लेकर चलते हैं, कि वे Famous...

Haryana के इस किसान ने सब्जी की खेती छोड़ शुरू किया ये काम, इसी की मदद से आज कमा रहा है लाखों रुपए

हरियाणा के किसान ज्यादातर सब्जी और अनाज की खेती करते हैं। लेकिन कुछ किसान...

Haryana मे अनोखे तरीके से दुल्हन को लेने पहुंचा दूल्हा, देखने के लिए लोगों की उमड़ी भीड़

अपनी शादी में सारे अरमान पूरे करना हर किसी का सपना होता है। अमीर...