Homeकुछ भीखून-पसीने से सींची अपनी बंजर जमीन को हरियाणा के किसान ने बनाया...

खून-पसीने से सींची अपनी बंजर जमीन को हरियाणा के किसान ने बनाया उपजाऊ, अब कर रहा है लाखों की कमाई

Published on

जब मन में कुछ करने की ठान लेते हैं तो उसे पूरा लिए बिना चैन नहीं आता। अपने आत्मविश्वास से तो इंसान पहाड़ तक हिला सकता है। हरियाणा के एक किसान ने कुछ ऐसा ही कारनामा कर दिखाया है। अपनी कड़ी मेहनत और लगन से इस किसान ने अपनी बंजर जमीन उपजाऊ बना दिया। कुछ साल पहले तक जो जमीन 20 हजार सालाना भी नहीं दे पाती थी, वह अब लाखों रुपए की पैदावार कर रही है। बीए पास किसान पवन कुमार सिहाग ने अपने पिता के साथ मिलकर बंजर जमीन को उपजाऊ बनाकर सबको हैरान कर दिया है। अपनी साढ़े 10 एकड़ की जमीन में वह गेंहू और नरमा की पारंपरिक खेती छोड़ कर बागवानी कर रहे हैं।

पवन ने बताया कि उनकी साढ़े 10 एकड़ जमीन वीरान पड़ी हुई थी। उसमें पानी का भी कोई खास प्रबंध नहीं था। जिसकी वजह से खेती में पैदावार नाममात्र ही हो पाती थी। जिस कारण वह पारंपारिक खेती से आर्थिक रूप से मजबूत होने की बजाय और भी ज्यादा कमजोर हो रहे थे।

एक दिन हिसार यूनिवर्सिटी में उन्हें खेती-बाड़ी कार्यक्रम में बागवानी से संबंधित कई गुना आमदनी होने के बारे में जानकारी मिली तो उसी दिन उन्होंने पारंपारिक खेती को त्याग दिया। इसके बाद पवन ने दो एकड़ में बाग लगाया और एक साल बाद ही बाग में आय पहले की फसलों से दोगुना हुई।

लोगों को दे रहे रोजगार

आपको बता दें कि गांव बैजलपुर के पवन सिहाग कई बार सरकारी नौकरी के लिए फार्म भरकर परिणाम आने का इंतजार करता था, पर सफलता न मिल पाने के कारण मायूस हो जाता था। लेकिन उद्यान विभाग के कार्यक्रम ने पवन की जिंदगी ही बदल दी। जहां पहले पवन कुमार नौकरी के लिए दर दर भटकता था। आज वह खुद 30 से अधिक लोगों को बागवानी के कार्य में रोजगार दे रहा है। इसके अलावा अस्थाई तौर पर कई कर्मचारी जरूरत के अनुसार बाग में कार्य पर आते रहते हैं।

नर्सरी के कारोबार से कमा रहे करोड़ों

आपको बता दें कि केवल बागवानी से ही नही बल्कि किसान पवन कुमार नर्सरी के भी करोड़ों कमा रहे हैं। वह नर्सरी में प्रति वर्ष लाखों पौधे तैयार कर रहे हैं जिनसे उनकी खून ऐ हो रही है।

किसान ने बताया कि वर्तमान सीजन के लिए दो लाख हिसार सफेदा के कलमी पौधे तैयार किए हैं। उपरोक्त क्वालिटी के पौधे का बाजार भाव 80 रूपये के करीब प्रति पौधा है। अगर दो पौधे बिकते हैं तो एक करोड़ 60 लाख रुपये लागत सहित प्राप्त होंगे। जबकि 60 हजार पौधे आडू के तैयार किए गए हैं। इस पौधे का भी बाजार भाव लगभग 80 रूपये ही है, जिसकी लगभग 48 लाख रुपये खर्चा सहित मिलने की उम्मीद है।

उन्होंने बताया कि कलमी पौधा तैयार करने में सबसे ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है क्योंकि पूरा पौधा उनकी नर्सरी में ही तैयार होता है। जबकि कुछ लोग बाहर से पौधों को खरीद कर बेच रहे हैं। हिसार सफेदा कलमी पौधे की डिमांड बड़े स्तर पर है और किसान लगातार जागरूक होकर बागवानी की तरफ रूझान बढ़ा रहे हैं।

Latest articles

करनाल के मास्टर एथलीट ने युवाओं को छोड़ा पीछे,31वीं हरियाणा मास्टर्स एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में जीत 71 मेडल

हम सबकी जिंदगी में एक उम्र ऐसी आती है कि, जब हमें सिर्फ़ आराम करना चाहिए। क्योंकि सारी जिंदगी तो हमारी भाग दौड़ में...

चंडीगढ़ की लेडी कॉन्स्टेबल के बेटे ने किया कुछ ऐसा, आज पूरे देश में हो रही है चर्चा, यहां जानें क्या है वो वजह

आज के समय में लोग अपन शौक पूरा करने के लिए नए नए कारनामें कर देते हैं। कुछ कारनामें तो ऐसे भी होते जो...

हरियाणा का एक और बेटा हुआ शहीद,जम्मू में ग्रेनेड ड्रिल के दौरान हुआ हुआ ये हादसा, कैप्टन के पद पर थे तैनात

आए दिन हमारा कोई न कोई वीर जवान बॉर्डर पर आतंकी हमले में शहीद हो जाता है। देश की आन, बान और शान के...

बहुत जल्द दिल्ली की होलसेल मार्केट हरियाणा में हो सकती है शिफ्ट, सीएम मनोहर लाल खट्टर ने दिल्ली के 11 व्यापारी एसोसिएशन से की...

इन दिनों हरियाणा सरकार हरियाणा वासियों को दिल्ली वासियों की तरह सुविधा देने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। पहले जहा सरकार...

हरियाणा का ये गांव बना भाईचारे की मिसाल,सरपंच उम्मीदवार के हार जानें के बाद भी किया उसका सम्मान

पूरे हरियाणा में 25 नवंबर को ग्राम पंचायत के चुनाव हो चूके है। जिनमें...

हरियाणा के इस जिले में अब कचरे का होगा पुनः उपयोग, बेकार बोतलो और कांच के टुकड़े से बनेंगी चूड़ियां

दिनों दिन बढ़ते कूड़े की समस्या को देखते हुए अंबालानगर परिषद सदर क्षेत्र ने...

तीर्थ स्थलों के दर्शन करने के इच्छुक के लिए खुशखबरी, जल्द चलेंगी हरियाणा रोडवेज की एसी बसें, यहां जानें क्या होगा रूट

हरियाणा में तीर्थ स्थलों के दर्शन करने वाले इच्छुको के लिए एक खुशखबरी है।...

हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा का बड़ा फैसला, इतने हज़ार तिपहिया और दोपहिया का EV मुफ्त होगा पंजीकरण

हरियाणा में बड़ते पॉल्यूशन को देखते हुए अब हरियाणा में भी दिल्ली की तरह...

More like this

हरियाणा की बेटी ने वुमेंस वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतकर किया देश का नाम रोशन

हरियाणा की बेटी ने आज हरियाणा का सीना गर्व से चौड़ा कर दिया है।...

21 साल की सबसे छोटी सरपंच बनी हरियाणा के इस गांव की बेटी,पंचायत समिति का सदस्य बनकर बढ़ाया गांव का गौरव

हरियाणा में अभी हाल ही में पंचायत के चुनाव हुए हैं इन चुनावों में...

अगर आप करना चाहते हैं कुछ एडवेंचर,तो ज़रूर जाए हरियाणा की इन हांटेड जगहों पर, जल्दी से यहां देखें लोकेशन

अगर आप निडर है और कुछ एडवेंचर करना चाहते हैं।लेकिन आपकों कोई जगह नहीं...