Homeकुछ भीहरियाणा: बेरोजगारों की जिंदगी बदल देगी यह सरकारी योजना, 90 प्रतिशत मिलेगी...

हरियाणा: बेरोजगारों की जिंदगी बदल देगी यह सरकारी योजना, 90 प्रतिशत मिलेगी सब्सिडी

Published on

हरियाणा में गाय की देसी नस्ल (हरियाणा एवं साहीवाल) को बढ़ावा देने के लिए दुग्ध प्रतियोगिता कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। यह आयोजन ग्राम स्तर पर किया जाता है जिसमें पशुपालकों को प्रोत्साहन राशि भी वितरित की जाती है। इसके अलावा इन नस्लों के संरक्षण एवं संवर्धन हेतू मिनी डेयरी योजना के तहत पशुपालकों को तीन या पांच दुधारू गायों की खरीद पर सरकार द्वारा 50 प्रतिशत अनुदान राशि भी दी जाएगी।

हरियाणा पशुपालन एवं डेयरी विभाग द्वारा प्रदेश की प्रति व्यक्ति दुग्ध उपलब्धता में बढ़ोत्तरी करने तथा डेयरी व्यवसाय से बेरोजगार युवाओं को स्वरोजगारपरक बनाने के उद्देश्य से दुग्ध एवं डेयरी से संबंधित कई नई योजनाएं चलाई जा रही हैं।

भेड़ या बकरियों की डेयरी करने वाले व्यक्तियों को 90 प्रतिशत सब्सिडी दी जा रही है। डेयरी पालन का व्यवसाय करने के इच्छुक व्यक्तियों को सरल पोर्टल पर पंजीकरण कराना होगा।

इस योजना का उद्देश्य शहरी/ ग्रामीण शिक्षित बेरोजगार युवक/ युवतियों को बैंकों के माध्यम से ऋण उपलब्ध कराकर स्वरोजगार उपलब्ध करवाना है। इसके अलावा आर्थिक रूप से पिछड़े गरीब परिवारों के लिए भी स्वरोजगार उपलब्ध करवाना है। इस योजना के तहत लाभार्थी को 25 प्रतिशत अनुदान प्रदान किया जाता है।

विभाग द्वारा 4 व 10 दुधारू पशुओं (भैंस, गाय) की डेयरी स्थापित करने वाले व्यक्तियों को 25 प्रतिशत सब्सिडी दी जा रही है। इसी प्रकार 20 व 50 दुधारू पशुओं की डेयरी पर ब्याज की सब्सिडी देने का प्रावधान दिया गया है।

आपको बता दें कि अनुसूचित जाति वर्ग के परिवारों को 20 भेड़/बकरी व एक नर खरीदने के लिए एक लाख रूपए का ऋण 90 प्रतिशत अनुदान पर उपलब्ध करवाया जाता है। इसके अलावा तीन दुधारू पशुओं की ईकाई भी स्थापित करवाई जाती है जिस पर लाभार्थी को 50 प्रतिशत अनुदान प्रदान किया जाता है।

वहीं अनुसूचित जाति के बरोजगार युवकों को सुअर पालन हेतू राशि 50,000/- रूपए का ऋण 50 प्रतिशत अनुदान पर बैकों से दिलवाया जाता है।

डीसी नरेश नरवाल ने बताया कि विभाग द्वारा हाईटेक मिनी डेयरी योजना के तहत सामान्य वर्ग के पशुपालक 4, 10, 20 तथा 50 दुधारू पशुओं की डेयरी लगा सकते हैं। विभाग द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए विभाग के कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं।

डेयरी पालन का व्यवसाय शुरू करने के लिए इच्छुक व्यक्तियों को सरल पोर्टल पर पंजीकरण कराना होगा। पंजीकरण करते समय परिवार पहचान-पत्र, आधार कार्ड, पैन कार्ड, बैंक पासबुक, कैंसल चैक तथा बैंक की एनओसी अपलोड करनी होगी।

पशु खरीदने के साथ साथ उनका आहार भी अच्छा होना चाहिए। पशु आहार आदेश 1999 के तहत पशु आहार के निर्माताओं व विक्रेताओं का पंजीकरण करवाना आवश्यक है और पशु आहार की गुणवत्ता को चैक करने के लिए विभाग की टीम द्वारा समय-समय पर सैम्पल लिए जाते हैं ताकि पशुपालकों को शुद्ध पशु आहार उपलब्ध करवाया जा सके।

Latest articles

अब Haryana के इन रूटों पर वंदे भारत समेत कई ट्रेनें दौड़ेंगी 130 की स्पीड से, सफर होगा आसान

हरियाणा सरकार जनता के लिए हमेशा कुछ ना कुछ अच्छा करती रहती है। जिससे कि उनका काम आसान हो सके। वह आसानी से कहीं...

हरियाणा के इन जिलों में बनेंगे नए Railway Track, सफर होगा आसान

हरियाणा से और राज्यों को जोड़ने के लिए व जिलों में कनेक्टिविटी के लिए हरियाणा सरकार रोजाना कुछ न कुछ करती की रहती है।...

Haryana में इन लोगो को मिलेंगे E-Smart Card, रोडवेज में कर सकेंगे Free यात्रा, जाने पूरी खबर

लोगों की सुविधा के लिए हरियाणा सरकार हर संभव प्रयास करती है कि गरीब लोगों को किसी के आगे हाथ फैलाने की जरूरत ना...

हरियाणा और पंजाब में इन दोनों हो सकती है भारी बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

वर्तमान में देखा जाए तो देश के कई हिस्सों में ठंड और कोहरा सक्रिय होता हुआ नजर रहा है। ठंडी हवाएं चलनी शुरू हो...

More like this

हरियाणा के स्कूलों में शुरू हुई नई पहल, अब घर वालों को फोन पर रिजल्ट देंगे स्कूल के अध्यापक

हरियाणा में 10वीं और 12वीं में खराब रिजल्ट वाले स्कूलों के रिजल्ट को सुधारने...

हरियाणा सरकार ने रक्षाबंधन के दिन महिलाओं को दी बड़ी सौगात, किया यह ऐलान

हरियाणा सरकार ने रक्षाबंधन के दिन महिलाओं के लिए बड़ा ऐलान किया है. परिवहन...

Haryana को अब गर्मी से मिलेगी राहत,येलो अलर्ट किया जारी

हरियाणा में लगातार पड़ रही गर्मी से अब लोगों को राहत मिलने की संभावना...